July 24, 2024 |

BREAKING NEWS

हाई स्पीड ट्रेन और ट्रैक की ड्रोन से होगी निगरानी टेक्नोलॉजी के युग में टेक्नोलॉजी को बनाया जाएगा हथियार

Media With You

Listen to this article

लखनऊ में गुरुवार को तीन दिवसीय इनु रेल प्रदर्शनी का शुभारंभ अनुसंधान अभिकल्प एवं मानक संगठन आरडीएसओ राजाजीपुरम मानक नगर में किया गया जिस के उद्घाटन सत्र में बोलते हुए आरडीएसओ के महानिदेशक श्री संजीव भूटानी ने कहां है कि बंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का दूसरा वर्जन भी आरडीएसओ ने ही डिजाइन किया है सन 1957 मैं स्थापित अनुसंधान अभिकल्प एवं मानक संगठन घरेलू कंपनियों के उत्पादों को लगातार बढ़ावा देकर निरंतर अपने लक्ष्य को प्राप्त करता रहा है उच्च गुणवत्ता परक उत्पादों का प्रयोग करते हुए भारतीय रेलवे लगातार उन्नत हो रही है

इनो रेल के उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता कर रहे मंगल देव ने बताया है कि भारतीय रेलवे देश में सबसे बड़ा और विश्व में में चौथे नंबर का नियोक्ता है प्रदर्शनी में इटली फ्रांस स्पेन एवं जापान सहित 15 देशों सी आई हुई कंपनियों ने तथा 100 से अधिक देसी भारतीय कंपनियों ने इस प्रदर्शनी में हिस्सा लिया नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन के मैनेजर( पीआर) निशंक भानु ने बताया है कि अहमदाबाद मुंबई हाई स्पीड ट्रेन के लिए अहमदाबाद से मुंबई के बीच 101 किलोमीटर का सेक्शन तैयार कर लिया गया है 2026 तक इसके ट्रायल होने का लक्ष्य रखा गया है जिसको हम पूरा करेंगे

रेल मंत्रालय द्वारा किए जाने वाले इस प्रकार के कार्यक्रमों का उद्देश्य गुणवत्ता परक मानकों पर आधारित हाई टेक्नोलॉजी बेस्ट उत्पादों का प्रयोग कर लगातार भारतीय रेलवे को समर्थ सक्षम बनाने पर जोर दिया जाता है हर 2 साल में होने वाली इस प्रदर्शनी का आयोजन सन 2018 के बाद से नहीं हो सका वंदे भारत बुलेट तेजस एवं मेट्रो ट्रेन से संबंधित तथा रेलवे से जुड़े अन्य उत्पादों को बनाने वाली देसी विदेशी तमाम कंपनियों ने इस प्रदर्शनी में हिस्सा लिया सीआईआई उत्तर प्रदेश की अध्यक्ष विनम्र अग्रवाल ने जानकारी देते हुए बताया है कि स्टैंडर्ड अथॉरिटी के मानकों के अनुसार 15 देशों के प्रयोग में की उन्नत रेलवे से जुड़े उत्पादन में संलग्न कंपनियों ने इस प्रदर्शनी में हिस्सा लिया है जबकि 125 भारतीय कंपनियों की भागीदारी रही है

हाई स्पीड बुलेट ट्रेन एडवांस्ड सिगनलिंग के अलावा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मशीन लर्निंग डाटा संग्रहण क्लाउड कंप्यूटिंग से जुड़े एवं रेलवे ट्रैक से जुड़ी कंपनियों ने इस आयोजन में भाग लिया उन्नत एवं विकसित हो रही प्रणाली को रेल मंत्रालय सुरक्षा एवं सुगमता को भी लगातार प्रौद्योगिकी के माध्यम से विकसित किया जा रहा है इस आयोजन का मुख्य आकर्षण एल्डिन एवं ओमनीप्रेजेंट रोबोट टेक्नोलॉजी द्वारा उन्नत एवं विकसित ह हंस B5 नमक रोबोट ड्रोन का विकास किया है जोकि रेलवे की ट्रैक सिग्नल एवं सुरक्षा से संबंधित जानकारी में अहम भाग निभा सकता है साथ ही साथ भारत के बॉर्डर पर तैनात फॉरसिस को पेट्रोलिंग में मदद पहुंचा सकता है सही मायने में ओमनीप्रेजेंट रोबोट टेक्नोलॉजी द्वारा विकसित उन्नत हंस B5 ड्रोन से न केवल भारतीय रेलवे से संबंधित ट्रैक बल्कि सीमा पर तैनात उन सुरक्षाबलों की आकाश से झांकती हुई आंखें होंगी जो सुरक्षा एवं उनकी निशानदेही के लिए पुख्ता रूप से काम करेंगे इस ड्रोन की खासियत होगी कि एक बार की चार्जिंग के बाद लगातार 3 घंटे की फ्लाइट ले सकता है


Media With You

हमारी एंड्राइड न्यूज़ एप्प डाउनलोड करें

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

What's app your name and number

What's app your name and number

Leave A Reply

Your email address will not be published.